हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी करवाने से पहले किन बातों का रखें ध्यान ?

0
218
क्या है हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी की संपूर्ण जानकारी

    ENQUIRY FORM

    बढ़ते काम, आए दिन का तनाव, खान-पान का अच्छे से ध्यान न रखने से हमारे बाल झड़ने के कगार पर आ जाते है, और कई बार तो ये झड़ते बाल गंजेपन की समस्या में कैसे बदल जाते है इसके बारे में हमे ज्ञात ही नहीं होता है। पर इन सब समस्या से हम आपको बाहर निकालेंगे वो भी हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी की मदद से, तो अगर झड़ते बाल आपकी भी समस्या बन चुकी है तो इससे बचाव के लिए आपको आर्टिकल के साथ अंत तक बने रहना चाहिए ;

    हेयर ट्रांसप्लांट क्या है?

    • हेयर ट्रांसप्लांट एक सर्टिफाइड डर्मेटोलॉजिस्ट या ट्राइकोलॉजिस्ट सर्जन द्वारा की जाने वाली एक सर्जिकल प्रक्रिया है। 
    • इस सर्जरी को एनेस्थीसिया के तहत किया जाता है. ताकि सर्जरी के दौरान मरीज़ को दर्द का आभास न हो।  
    • आमतौर पर, सिर के पीछे या किनारे के बालों को सिर के ऊपर लगाया जाता है। हालांकि, ऐसे मामलों में जहां सिर के पिछले हिस्से से पर्याप्त बाल निकालना संभव नहीं हो पाता है, तो डोनर के बाल शरीर के अन्य हिस्सों से लिए जाते है।

    अगर आप भी झड़ते बालों की समस्या से निजात पाना चाहते है तो इसके लिए आपको लुधियाना में हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी का चयन करना चाहिए।

    हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के दौरान क्या होता है?

    आपको बता दें कि हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के दौरान आपके सिर को अच्छी तरह से साफ करने के बाद सर्जन एनेस्थीसिया लगाकर सिर के एक हिस्से को सुन्न करने के लिए छोटी सुई का इस्तेमाल करता है।

    हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी कितने प्रकार की होती है ?

    • हेयर ट्रांसप्लांट के लिए दो मुख्य तकनीकों का प्रयोग किया जाता है: एफयूटी (FUT) और एफयूई (FUE)।
    • एफयूटी (FUT) की बात करें तो इसमें सर्जन सिर के पिछले हिस्से से स्किन की एक पट्टी को काटने के लिए एक स्केलपेल का इस्तेमाल करता है। पट्टी लगाने के लिए जो चीरा लगाया गया है वह सामान्यतः कई इंच लंबा होता है। इसके बाद यहाँ पर बाल को लगाया जाता है फिर चीरे को सर्जन के द्वारा अच्छी तरह से सिल दिया जाता है। 
    • अब बात करें एफयूई (FUE) की तो इसमें बालों के रोम को सिर के पिछले हिस्से से ही कई छोटे पंच या चीरों के माध्यम से निकाला जाता है। सर्जन स्कैल्प के उस हिस्से में ब्लेड या सुई से छोटे-छोटे छेद करता है, जहां पर हेयर ट्रांसप्लांट हो रहा है। फिर वे इन छेदों में बालों को बहुत धीरे से लगाते है।

    हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के बाद क्या होता है ?

    • हेयर ट्रांसप्लांट के बाद आपके सिर में दर्द हो सकता है, और आपको हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी करवाने के बाद कई दवाएँ लेने की ज़रुरत महसूस हो सकती है, जैसे:
    • दर्द की दवा। 
    • सूजन को कम रखने के लिए दवाएं। 
    • ज्यादातर लोग सर्जरी के कई दिनों बाद फिर से सामान्य काम पर लौट सकते है।
    • ट्रांसप्लांट किए गए बालों का दो से तीन सप्ताह बाद झड़ना सामान्य सी बात है। यह नए बालों के विकास के लिए रास्ता बनाता है। कई लोगों को सर्जरी होने के 8 से 12 महीने बाद कुछ मात्रा में नए बाल उगते हुए दिखाई दे सकते है।

    किन लोगों को हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी का चयन नहीं करना चाहिए ?

    • बालों के झड़ने के व्यापक पैटर्न वाली महिलाएं दूर रहें इस सर्जरी से। 
    • जिन लोगों के पास पर्याप्त ‘डोनर’ बाल ना हो। 
    • चोट लगने के बाद मोटे, रेशेदार निशान वाले लोग न करें इस सर्जरी का चयन। 
    • कीमोथेरेपी के कारण अगर बाल झड़ रहें है तब भी आप इस सर्जरी का चयन न करें।

    हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी का खर्चा कितना आता है ?

    हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी के लिए बेस्ट हॉस्पिटल या सेंटर ?

    अगर आप भी झड़ते बालों की समस्या से बहुत ज्यादा परेशान है तो इससे बचाव के लिए आपको एएसजी हेयर ट्रांसप्लांट सेंटर से अपने बालों की सर्जरी को करवाना चाहिए।