महिलाओं में अगर है गंजेपन की समस्या – तो जानिए क्या है इसके कारण और घरेलू उपाय ?

0
309
गंजेपन-की-समस्या-से-अगर-है,-परेशान-तो-हेयर-ट्रांसप्लांट-सर्जरी-का-कर-ले-इस्तेमाल

    ENQUIRY FORM

    वैसे तो बालों का झड़ना आम समस्या है, लेकिन जब ये समस्या बहुत दिनों तक रह जाती है, तो बाल पतले हो जाते है और हद से ज्यादा गिर जाने के कारण गंजेपन की अवस्था आ जाती है। पर इस समस्या से महिलाएं कैसे खुद का बचाव कर सकती है, कौन-से उपचार इसके लिए सहायक माने जाते है और गंजेपन की समस्या से महिलाएं  कौन-से घरेलु उपाय अपनाकर खुद का बचाव कर सकती है, इसके बारे में आज के लेख में चर्चा करेंगे ;

    महिलाओं में गंजेपन की समस्या के क्या कारण है ?

    • रजोनिवृत्ति के कारण भी महिलाओं में हार्मोन का अंसतुलन सबसे ज्यादा होता है, जिसका असर सीधा बालों पर पड़ता है। 
    • पौष्टिक आहार में कमी के कारण। 
    • गंजेपन की समस्या का कारण अनुवांशिक भी हो सकता है।
    • अत्यधिक तनाव के कारण।
    • कम नींद लेने की वजह से भी व्यक्ति को इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।  
    • बार-बार रूसी होना भी बाल झड़ने के कारणों में शामिल है। 
    • एंडोक्राइन या ट्यूमर से हार्मोन के निकलने के कारण भी महिलाओं में गंजेपन की समस्या हो सकती है। 
    • वहीं एक अध्ययन से ये साबित भी हुआ है कि वायु प्रदूषण के कारण भी बालों में सीसा (लेड), कॉपर और कैडमियम उच्च सांद्रता यानि हाई कंसन्ट्रेशन में होने और जिंक के शामिल होने के कारण भी गंजेपन की समस्या का व्यक्ति को सामना करना पड़ सकता है।

    क्या है महिलाओं में गंजेपन की समस्या ?

    • वैसे तो बालों का झड़ना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन जब ये समस्या बहुत दिनों तक रह जाती है, तो बाल पतले हो जाते है और हद से ज्यादा गिर जाने के कारण गंजेपन की अवस्था आ जाती है। 
    • बालों का गंजापन सिर्फ पुरुषों में ही नहीं होता है बल्कि महिलाओं में भी होता है। असल में महिलाओं का गंजापन पुरुषों की तरह ही होता है सिर्फ उसका पैटर्न अलग होता है। 
    • वहीं महिलाओं के गंजेपन को एंड्रोजेनेटिक एलोपेशिया के नाम से जाना जाता है। आमतौर पर दो-तिहाईं महिलाओं में गंजापन रजोनिवृति (मेनोपॉज या मासिक धर्म) के बंद होने के बाद होता है, लेकिन आजकल की लाइफस्टाल, तनाव, हार्मोन में असंतुलन के कारण महिलाओं में गंजेपन की समस्या दिन ब दिन बढ़ती जा रही है।

    महिलाओं में गंजेपन की शुरुआत किस उम्र में होती है ?

    • महिलाओं में 30 से 40 के उम्र के पहले गंजापन न के बराबर होता है, लेकिन 40 या 50 की उम्र के बाद से महिलाओं में गंजेपन की संभावना आमतौर पर नजर आने लगती है।
    • पुरूषों में जैसे – एन्ड्रोजेन सेक्स हॉर्मोन के ज्यादा होने के कारण गंजापन होता है, वैसे ही महिलाओं में भी गंजेपन की वजह समान है। इसी तरह जो लोग अगर कम उम्र में बहुत ज्यादा धूम्रपान या सिगरेट पीते है, तो उनमे भी जल्दी से गंजे होने की संभावना बढ़ जाती है।

    गंजेपन की समस्या को दूर करने के लिए कौन-से इलाज है, कारगर ? 

    • यदि आपके गंजेपन की समस्या लगातार बढ़ते जा रही है, तो इससे बचाव के लिए आपको डॉक्टर के सम्पर्क में आना चाहिए। इसके अलावा आपके बालों के झड़ने की समस्या को देख कर डॉक्टर “मिनोक्सिडील” नाम की दवाई चलाते है, जोकि काफी प्रमाणित दवाई है। वही इस दवाई को लगाने से 6 से 12 महीने में आपको नए बाल उगने जैसा अनुभव होने लगता है और बाल पहले से घने नजर आते है। लेकिन इसको लगाने से आपको साइड इफेक्ट्स का भी सामना करना पड़ता है, जैसे- त्वचा का शुष्क हो जाना, खुजली होना, त्वचा का लाल जैसा दिखाई देना आदि।
    • दूसरा है हेयर ट्रांसप्लांट और इस प्रक्रिया में स्कैल्प के एक जगह से पतले बालों को लेकर, जहां पर बाल नहीं है, वहां ट्रांसप्लांट किया जाता है। पर ध्यान रहें, इस सर्जरी का चयन करने से पहले आपको पंजाब में हेयर ट्रांसप्लांट की लागत कितनी है इसके बारे में जरूर जानकारी होनी चाहिए।   
    • हेयर वीविंग तकनीक में सामान्य बाल या सिथेंटिक हेयर को गंजेपन वाले स्थान पर लगाया जाता है।
    • लोअर लेवल या लेजर थेरेपी में बालों का गिरना कम करने के साथ-साथ गंजापन भी ठीक किया जा सकता है। इसके इलाज से ब्लड सेल्स एक्टिव हो जाते है और स्कैल्प में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर तरीके से होने के कारण नए बाल उगने और भी आसान हो जाते है ।

    आप अगर गंजेपन की समस्या से जल्दी बचाव चाहते है, तो इसके लिए आपको एएसजी हेयर ट्रांसप्लांट सेंटर का चयन करना चाहिए।

    कौन-से घरेलु उपाय बालों के झड़ने या गंजेपन की समस्या से हमारा बचाव करेंगे ?

    • सबसे पहले तो आपको गीले बालों को झड़ने से रोकना होगा, तभी जाकर आप गंजेपन की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है।
    • करी पत्ते का तेल बनाकर लगाने से भी आप गंजेपन की समस्या से खुद का बचाव कर सकते है और साथ ही इस तेल को बनाने के लिए आप नारियल तेल का इस्तेमाल कर सकते है। 
    • बालों को नुकसान पहुंचाने वालें हेयरस्टाइल से जितना हो सकें खुद का बचाव करें।
    • अपने बालों की समस्या को देखते हुए आपको सही शैंपू का चुना करना चाहिए और ट्रेंडी शैंपू से जितना हो सकें खुद का बचाव करें।
    • बालों के गंजेपन व झड़ने की समस्या से खुद का बचाव करने के लिए आपको प्याज के रस का सेवन करना चाहिए। 

    इन उपायों को अपनाने के बाद आपके बालों के झड़ने की समस्या पर रोक न लगें, तो इससे बचाव के लिए आपको लुधियाना में हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी का चयन करना चाहिए।

    सारांश :

    इसके अलावा आप गंजेपन या बाल झड़ने की समस्या से निजात पा सकते है, अगर आप उपरोक्त उपायों को अपनाने के साथ अपने खान-पान का भी अच्छे से ध्यान रखें तो।